UP सरकार से जारी 56 करोड़ के चेक का बनाया क्लोन, फर्जी निकासी से पहले धराए 4 अपराधी

रांची। यूपी सरकार के ग्रामीण विकास विभाग के खाते को चूना लगाने की योजना को रांची पुलिस ने नाकाम कर दिया है। 56.42 करोड़ की क्लोन चेक के साथ 4 आरोपितों को गिरफ्तार किया गया है। पकड़े गए आरोपी संबंधित चेक बन जा कर सरकार को चूना लगाने की फिराक में थे। गिरफ्तार आरोपितों में राजेश पासवान, विजय वर्मा, मनीष सिन्हा और अजय सिंह शामिल है। बुधवार की रात पुलिस ने गुप्त सूचना के आधार पर बुटी मोड़, मेडिका चौक के पास से पकड़ा है। गिरफ्तार सभी आरोपित रांची के अलग-अलग जगह के रहने वाले है। पुलिस द्वारा जप्त 56.42 करोड़ का चेक एसबीआई बैंक का है।जो यूपी सरकार के एनईआरजी स्कीम से निर्गत है। जो पीएसएमई कंस्ट्रक्शन एंड स्टाफिंग सर्विसेज प्राइवेट लिमिटेड के नाम से काटा गया है। जिसे पकड़े गए आरोपित रांची में एसबीआई के शाखा में चेक का पैसा दूसरे खाते में ट्रांसफर करने के लिए बैंक कर्मी से बातचीत कर रहे थे। इस मामले में सदर थाना में गिरफ्तार आरोपितों के खिलाफ नामजद प्राथमिकी दर्ज की गई है। इधर, सदर थाने के इंस्पेक्टर बेंकटेश कुमार के अनुसार पुलिस द्वारा जप्त चेक यूपी सरकार का क्लोन चेक है। यूपी सरकार के संबंधित विभाग से सत्यापन किया जा चुका है। पकड़े गए आरोपियों का दिल्ली से कनेक्शन जुड़ा हुआ है। पूछताछ में आरोपियों ने तीन व्यक्ति का नाम बताया है। पुलिस उन तीनों की तलाश कर रही है।

क्लोन चेक तैयार करने का चलाते हैं गिरोह

अब तक की प्रारंभिक जांच में पुलिस को पता चला है कि पकड़े गए आरोपी कुलवंत चेक तैयार करने का गिरोह चलाते हैं। सदर थानेदार ने बताया कि गिरफ्तार राजेश पासवान ने दिल्ली के तीन व्यक्ति के नाम का खुलासा किया है। तीनों व्यक्ति दिल्ली में फर्जी चेक से दूसरे के बैंक खाते से पैसों की निकासी का काम करता है। पूर्व में भी तीनों व्यक्ति द्वारा कई बार फर्जी चेक से निकासी का काम किया गया है। चेक प्रिंट करने के लिए खुद अपने-अपने पास प्रिंटर रखे हुए है। बैंक से डिटेल्स लेने में बाद फर्जी चेक से पैसों की निकासी का काम करते है।

Comments