यूपी में 58.4 फीसद महिलाएं एनीमियाग्रस्त, विशेषज्ञों ने जताई चिंता...ऐसे लक्षण द‍िखें तो हो जाएं सावधान

कोरोना काल में गर्भवती सहित सामान्य महिलाएं भी एनीमिया का शिकार हो रहीं हैं। विशेषज्ञ कहते हैं, खानपान का ख्याल न रखने से महिलाएं एनीमिया की शिकार हो सकती हैं। यही वजह कि महिलाओं में एनीमिया की समस्या अधिक देखने को मिलती है। क्वीन मेरी अस्पताल की मुख्य चिकित्सा अधीक्षिका व स्त्री रोग विशेषज्ञ डॉ. एसपी जैसवार बताती हैं, महिलाओं में आयरन की कमी या एनीमिया एक गंभीर समस्या है। उन्होंने बताया कि राष्ट्रीय परिवार स्वास्थ्य सर्वेक्षण-4 (2015-16) के अनुसार लखनऊ में 15 से 49 वर्ष की 35.4 फीसद गर्भवती व 15 से 49 वर्ष की 58.4 फीसद महिलाएं एनीमिया से ग्रसित हैं। जोकि चिंता का विषय है। कोरोना काल में गाइडलाइन को देखते हुए सब्जी व फलों को खास साफ-सफाई के साथ इस्तेमाल करने की सलाह दी जा रही है। ऐसे में बहुत सी महिलाएं डर के चलते इनका सेवन करने से कतरा रही हैं जो सही नहीं है। यही वजह है कि एनीमिया के मरीज बढ़ रहे हैं। सावधानी बरतते हुए इनका सेवन करें ताकि शरीर को पोषक तत्व मिलें और रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़े।

कोरोना काल में एनीमिया से बचाव पर दें विशेष ध्यान

डॉ. जैसवार ने बताया, हीमोग्लोबिन ही फेफड़ों से ऑक्सीजन लेकर खून में पहुंचाता है। यही कारण है कि शरीर में हीमोग्लोबिन की कमी होने से ऑक्सीजन की कमी होने लगती है और शरीर को पर्याप्त ऊर्जा नहीं मिलती है। खानपान का ख्याल न रखने से एनीमिया होने के खतरे बढ़ते हैं। लेकिन महिलाओं में एनीमिया की समस्या अधिक देखने को मिलते हैं। ऐसे में, कोरोना के दौर में तो इस पर विशेष ध्यान देना चाहिए क्योंकि इससे प्रतिरोधक क्षमता भी कम हो सकती है। ऐसी स्थिति में कोरोना के संक्रमण का खतरा भी बढ़ सकता है।

एनीमिया मैनेजमेंट पर कर रहे काम

झलकारीबाई की सीएमएस डॉ. सुधा वर्मा कहती हैं, कोरोना काल में मरीजों की भर्ती कम होने से हमने गरीब एनीमिया के मरीजों पर विशेष ध्यान दिया। डाइट्री सर्विसेज को हमने एनीमिया मैनेजमेंट में शामिल किया जिसके बेहतर परिणाम भी सामने आए।

आयरन की गोलियों का सेवन विटामिन-सी युक्त पदार्थों के साथ करें

इंदिरानगर बीएमसी की एमएस डॉ. रश्मि गुप्ता कहती हैं, महिलाएं खाना बनाने व खाना खाने से पहले हाथों को साबुन और पानी से अच्छे से धोएं। संतुलित आहार का सेवन करें। गर्भवती व धात्री महिलाएं डॉक्टर की सलाह से आयरन की गोलियों का सेवन करें। आयरन की गोलियों को विटामिन-सी युक्त खाद्य पदार्थ जैसेकि नींबू पानी, संतरा, आंवले के साथ लेना चाहिए। विटामिन-सी शरीर में आयरन के अवशोषण को बढ़ाता है। भोजन करने के दो घंटे बाद या पहले दूध का सेवन नहीं करना चाहिए क्योंकि यह आयरन के अवशोषण को कम करता है।

ये हैं एनीमिया के लक्षण
सांस फूलना थकावट आना चक्कर आना घबराहट एकाग्रता में कमी आंखों, हथेलियों और नाखून का रंग पीला होना बचाव के लिए इनका करें सेवन : संतुलित आहार का सेवन करें गुड़, चना, हरी पत्तेदार सब्जियां- पालक, चना, लाल साग सहजन, खजूर, सोयाबीन, अंकुरित दालें, तिल बाजरा अगर मांसाहारी हैं तो लाल मांस, कलेजी, मुर्गा, मछली, अंडा आदि का सेवन करें।

Comments