लॉकडाउन में इलाज के नाम पर मुंह मांगी कीमत वसूल रहे प्राइवेट अस्पताल, कोई पूछने वाला नहीं


लॉकडाउन के दौरान एक तरफ जहां डॉक्टरों का सराहनीय कार्य देखने को मिला वहीं दूसरी तरफ एक ऐसा चेहरा भी सामने आया । कि संकट की घड़ी में कुछ डॉक्टर इलाज के नाम पर मरीजों से मुंह मांगी कीमत ले रहे हैं। यही नहीं इसके अतिरिक्त दवाई के नाम पर हजारों रूपए का बिल बना दे रहे हैं। जहां एक तरफ आम अस्पताल लॉक डाउन की मार झेल रहे हैं वहीं गोरखपुर के प्राईवेट अस्पताल इन दिनों काफी चांदी काट रहे हैं। जो प्राइवेट अस्पताल ऑन रोड हैं मतलब मुख्य मार्ग पर हैं वह मरीजों से इलाज के नाम पर मुंह मांगे कीमत तो वसूल कर ही रहे हैं साथ ही दवाई के नाम पर हजारों का बिल बना दे रहे हैं। गोरखपुर AIIMS के बाहर कूड़ाघाट स्थित सभी प्राइवेट अस्पताल इन दिनों लॉकडाउन का बेहद फायदा उठा रहे हैं। इमरजेंसी के नाम पर अस्पतालों ने 500 से 1000 रूपय फीस लागू कर दिया है साथ ही अपने अस्पताल में दवाई काउंटर पर बड़े बड़े अक्षरों में एक नोटिस भी लगा दिया है कि लॉकडाउन के दौरान खरीदी गई कोई भी दवाई वापस नहीं की जाएगी।

Comments