10 मिनट में बिखर गया एक परिवार, जिला अस्पताल की नर्स और डॉक्टर फरार


देवरिया/ पल भर में बिखर गया एक परिवार, माँ के मरते ही पेट मे 9 महीने का बच्चा भी दम तोड़ दिया, करप्ट सिस्टम पर कोई असर तक नही हुआ --!

ये घटना सच मे आश्चर्य जनक थी, 10 मिनट में पूरा माहौल ही बदल गया जिस डॉक्टरों को लोग भगवान का दर्जा देते है वो कभी- कभी वो दर्जा भी खो देते है--!

आज कुछ ऐसा ही हुआ खुखुंदू थाना क्षेत्र के दोहनी मठिया की रहने वाली शीला देवी पत्नी रामसूरत चौहान जब डिलेवरी कराने जिला अस्पताल पहुची तो अचानक कुछ ऐसा होता है शायद परिवार वाले भी नही सोचे होंगे-!

पेसेंट की हालत को देखते हुए जब नर्स द्वारा इंजेक्सन देने के 10 मिनट बाद ये महिला मर जाती है, ये सुनते ही डॉक्टर नर्स व स्टाप वहां से फरार हो जाते है, और पति बेचारा पत्नी को गले लगा कर रोने लगता है, पत्नी के साथ साथ बेटे को भी खो देने का जो दर्द होता है,यह तस्वीर वही ब्या कर रही है, मानो सच मे उसकी दुनिया ही उजड़ गई हो -!

एक नया परिवार बिखर गया, पेट मे 9महीने का बच्चा भी मर गया और माँ भी, समझ नही आता कि हमारे समाज के सरकारी सिस्टम इतना करप्ट क्यो होता जा रहा है,  

आखिर कब तक मेडिकल कालेज के भरोसे ये सरकारी सिस्टम चलेगा, जहाँ हर रोज खुशिया पल भर में दुःख में बदलते हुए नजर आती है --!

Comments