LIVE : प्रधानमंत्री मोदी का राष्ट्र संदेश - "19 दिन का नया लॉकडाउन"

LIVE : प्रधानमंत्री मोदी का राष्ट्र संदेश - "19 दिन का नया लॉकडाउन"

INDIA/ देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज 10:00 बजे राष्ट्र को सम्बोधन करते हुए कहा - कोरोना वैश्विक महामारी के खिलाफ भारत की लड़ाई । बहुत मजबूती के साथ आगे बढ़ रही  है। आपकी तपस्या, आपके त्याग की वजह से भारत अब तक, कोरोना से होने वाले नुकसान को काफी हद तक टालने में सफल रहा है। मैं जानता हूं, आपको कितनी दिक्कते आई हैं। किसी को खाने की परेशानी, किसी को आने-जाने की परेशानी,
कोई घर-परिवार से दूर है

शक्ति की बात:
लेकिन आप देश की खातिर, एक अनुशासित सिपाही की तरह अपने कर्तव्य निभा रहे हैं। हमारे संविधान में जिस We the People of India की शक्ति की बात कही गई है, वो यही तो है।

बाबा साहेब को श्रद्धांजलि
बाबा साहेब डॉक्टर भीम राव आंबेडकर की जन्म जयंती पर, हम भारत के लोगों की तरफ से अपनी सामूहिक शक्ति का ये प्रदर्शन, ये संकल्प, उन्हें सच्ची श्रद्धांजलि है।

लॉकडाउन के इस समय में देश के लोग जिस तरह नियमों का पालन कर रहे हैं, जितने संयम से अपने घरों में रहकर त्योहार मना रहे हैं, वो बहुत प्रशंसनीय है।

आज पूरे विश्व में कोरोना वैश्विक महामारी की जो स्थिति है, आप उसे भली-भांति जानते हैं। अन्य देशों के मुकाबले, भारत ने कैसे अपने यहां संक्रमण को रोकने के प्रयास किए, आप इसके सहभागी भी रहे हैं और साक्षी भी।

जब हमारे यहां कोरोना के सिर्फ 550 केस थे, तभी भारत ने 21 दिन के संपूर्ण लॉकडाउन का एक बड़ा कदम उठा लिया था।

भारत ने, समस्या बढ़ने का इंतजार नहीं किया, बल्कि जैसे ही समस्या दिखी, उसे तेजी से फैसले लेकर उसी समय रोकने का प्रयास किया गया। 

लॉकडाउन महंगा जरूर, लेकिन जरूरी
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि अगर सिर्फ आर्थिक दृष्टि से देखें तो अभी ये महंगा जरूर लगता है, लेकिन भारतवासियों की जिंदगी के आगे इसकी कोई तुलना नहीं हो सकती. सीमित संसाधनों के बीच, भारत जिस मार्ग पर चला है, उस मार्ग की चर्चा आज दुनियाभर में हो रही है. इन सब प्रयासों के बीच, कोरोना जिस तरह फैल रहा है, उसने विश्वभर के हेल्थ एक्सपर्ट्स और सरकारों को और ज्यादा सतर्क कर दिया है.

20 अप्रैल के बाद मिलेगी सशर्त छूट
पीएम मोदी ने कहा कि अगले एक सप्ताह में कोरोना के खिलाफ लड़ाई में कठोरता और ज्यादा बढ़ाई जाएगी. 20 अप्रैल तक हर थाने, हर जिले, हर राज्य को बारीकी से परखा जाएगा. लॉकडाउन का कितना पालन हो रहा है? इसका मूल्यांकन किया जाएगा. जो सफल होंगे, जो हॉटस्पॉट नहीं बढ़ने देंगे, वहां पर 20 अप्रैल से कुछ जरूरी चीजों में छूट की अनुमति दी जा सकती है, लेकिन याद रखिए यह अनुमति सशर्त होगी. लॉकडाउन के नियम अगर टूटते हैं तो सारी अनुमति तुरंत वापस ले ली जाएगी.

*हमारे प्रधान मंत्री जी ने लोगों से 7 बातो का समर्थन भी मांगा है*

 १- घर के बुजुर्गों का ध्यान रखें 

२- लॉकडाउन/सोशल डिसेंटिंग्स का पालन करें, घर का बना मास्क बहनें 

३-इम्युनिटी बढ़ाने के लिये आयुष मंत्रालय की बातें- गर्म पानी, काढ़ा पायें

४-आरोग्य सेतु एप डाउनलोड करें 

५-गरीब परिवारों की मदद करें

६-व्यवसाय/उधोग में किसी को नौकरी से ना निकालें

७- कोरोना योद्धाओं को सम्मान दें 

*सात बातों पर देश का समर्थन माँगा है हमारे प्रधान मंत्री मोदी जी ने*