एटा में एक ही परिवार के दो मासूमों सहित पांच लोगों की रहस्यमई हत्या

एटा में एक ही परिवार के दो मासूमों सहित पांच लोगों की रहस्यमई हत्या 
#रिटायर्ड स्वास्थ्य कर्मी राजेश्वर पचौरी के घर में घटी घटना। 

 एटा/ उत्तर प्रदेश के एटा जनपद मुख्यालय के कोतवाली नगर क्षेत्र के मोहल्ला श्रंगारनगर में शनिवार को एक अंदर से बंद मकान में संदिग्ध परिस्थितियों में दो बच्चों सहित पांच लोगों के शव बरामद हुए हैं। प्रथम दृष्ट्या यह घटना नृशंस हत्याकांड ही मानी जा रही है। ब्राह्मण समाज में शोक की लहर भारी संख्या में समाज के लोग एक एकत्रित हो गये। घटना की सूचना पर वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक सहित जिले के  उच्चाधिकारी मौके पर पहुंच गये हैं। भारी संख्या में बाह्मण समाज के लोगों ने पहुंच कर
इस सामूहिक नर संहार की निंदा कर जांच की मांग की। घटनाक्रम के अनुसार एटा के मोहल्ला श्रंगारनगर में रहनेवाले मोहल्लावासियों ने एटा कलक्ट्रेट बार के पूर्व अध्यक्ष मृतक के भाई रामेश्वर पचौरी के यहां सूचना दी कि उनके बड़े भाई तथा जिला
चिकित्सालय के रिटायर्ड फार्मेसिस्ट राजेश्वर पचौरी के मकान के बरामदे में एक महिला का शव पड़ा हुआ है। और मकान अंदर से बंद है।  घटना की सूचना पाकर माधव पचौरी ने पुलिस को घटना की सूचना दी।
सूचना पर पहुंची  कोतवाली नगर पुलिस ने जब अन्दर से मकान दरवाजा कटवाकर खोलकर  देखा तो  सभी अचंभित रह गये वहां 75 वर्षीय राजेश्वर पचौरी पुत्र रामप्रसाद, उनकी पुत्रवधू 37 वर्षीय दिव्या पत्नी दिवाकर पचौरी , दिवाकर की साली 27 वर्षीय बुलबुल व दिवाकर के पुत्र 8 वर्षीय आरूष व 1 वर्षीय अबोध  बच्चे का शव अलग अलग स्थानों पर पड़ा मिला। मौके पर पहुंचे शहर कोतवाल ने बताया कि एक महिला का शव घर के मुख्य दरवाजे के पास ,दो बच्चों व उनकी मौसी का शव कमरे के अन्दर तथा राजेश्वर पचौरी का शव दूसरी मंजिल पर मृत हालत में पड़ा मिला है। 

पुलिस को दिव्या के गले पर निशान पाये जाने से मामला कुछ संदिग्ध प्रतीत होता है। वहीं शवों के पास से , सल्फास की गोलियां व हार्पिक की बोतल भी प्राप्त हुई है। प्रथम दृष्टया देखने पर मामला हत्या एवं आत्महत्या में उलझ कर रह गया है। मृतक के भाई पूर्व कलेक्ट्रेट वार के अध्यक्ष रामेश्वर पचौरी ने अपने भाई सहित परिजनों की हत्या की आशंका व्यक्त की है साथ ही उन्होंने कहा बीती शाम मेरी अपने भाई से मुलाकात हुई थी तथा मैं उनके पास बैठा भी था। उनकी किसी से भी कोई दुश्मनी नहीं थी। यह हत्या है। उन्होंने आत्महत्या नहीं की है। पुलिस घटना को  हत्या के स्थान पर आत्महत्या की ओर मोड़ने में जुटी हुई है।

वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक सुनील कुमार सिंह ने बताया की प्रातः सात बजे पुलिस को सूचना मिली की राजेश्वर पचौरी के मकान में एक महिला चारपाई पर मृत हालत में पड़ी है। सूचना पर पहुंची पुलिस ने मृतक के घर का दरवाजा गैस से कटवा कर घर में अंदर जाकर देखा तो महिला के मुंह से झाग निकल रहा था। जांच करने पर पूरे मकान में कोई भी सामान अस्त-व्यस्त नहीं था तथा जिससे लूटपाट की कोई संभावना नहीं लगती है। मृतक का पुत्र दिवाकर रुड़की में नौकरी करता है। जिसे बुलाने के लिए सूचना दे दी गई है। घटनास्थल पर रसोई में रखे दूध को भी जांच के लिए भेजा गया है। उसमें तो कोई विषाक्त पदार्थ नहीं है।


मौके पर डॉग स्क्वायड सहित पुलिस टीमें लगाकर जांच कराई जा रही है। सभी मृतकों के शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजा गया हैं। वहीं एटा सांसद राजवीर सिंह राजू भैय्या पोस्टमार्टम हाउस पहुंचे और परिजनो को ढ़ान्ढस बन्धाया।

Comments