Twitter_Trend_#मोदीजी_काम_करो_नौटंकी_नहीं

संकट की इस घड़ी में नोबेल कोरोना वायरस से किस तरह से बचा जाए या क्या क्या सावधानियां हमें बरतनी चाहिए इसके बारे में डब्ल्यूएचओ (वर्ल्ड हेल्थ ऑर्गेनाइजेशन) अपने अधिकृत वेबसाइट के माध्यम से हमें जानकारियां पहुंचा रहा है। 

अपितु भारत में विडंबना यह है कि यहां पर शिक्षा दर पिछड़ा होने की वजह से लोग पढ़े लिखे नहीं हैं। और कोरोना जैसी गंभीर बीमारी के बारे में भी ठीक से नहीं जानते हैं । कुछ लोग तो इसका नाम तक ठीक से नहीं जानते । बस सरकार द्वारा बताए गए लॉक डाउन का पालन कर रहे हैं। उन्हें यह तक भी नहीं पता कि इस बीमारी से कैसे बचा जाए । और क्या-क्या एतिहात बरतने हैं।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सरकार के भरोसे बैठे भारतवासी लोग अपनी स्थिति खराब होते हुए भी देश के पीएम मोदी के कहने पर एक दूसरे में उत्साह भर रहे हैं शक्ति का आवाहन कर रहे हैं । और जनता कर्फ्यू, लॉक डाउन, शर्ट डाउन सभी चीज का पालन कर रहे हैं ।

सरकार शक्ति से अपना काम करने के बावजूद ना कोरोना वायरस की जानकारी मुहैया करा रही है और ना ही इससे बचाव के लिए सामग्री (मास्क, सैनिटाइजर इत्यादि) की व्यवस्था कर रही है । 

इन सब से नाराज पढ़े लिखे 75 हजार 400 लोगों ने ट्विटर पर 2 घंटे में ट्वीट कर लिखा हैं #मोदी_काम_करो_नौटंकी_नहीं आपको बता दें कि 5 अप्रैल रात्रि 9:09 से लगातार यह ट्वीट बड़ी तेजी से बढ़ता ही जा रहा है। जब से पीएम मोदी ने दीप दीप प्रज्वलित कर आवान किया है तब से पीएम मोदी को ट्रोल किया जा रहा है ।  वही करोड़ों लोगों ने दीप प्रज्वलित कर कोरोना फाइट का आवाहन किया।

गौरतलब है कि कोरोना महामारी दिन पर दिन एक विकराल रूप लेती जा रही है। समय रहते सतर्कता नहीं बरती गई तो यह विनाश (थर्ड स्टेज) पर जल्दी ही पहुंचा देगी।

Comments