रिटायर्ड पुलिस कर्मी की हत्या का मामला; पुलिस ने तह तक जाने के बाद कर दिया खुलासा

रिटायर्ड पुलिस कर्मी की हत्या का मामला सामने आने पर पुलिस तह तक जाने के बाद खुलासा कर दिया । 
औरैया जिले के कुदरकोट के पास रामपुर में एक रिटायर्ड पुलिस कर्मी की हत्या का मामला सामने आने पर पुलिस तह तक जाने के बाद खुलासा कर दिया । रिटायर्ड पुलिस कर्मी के तीन बेटे थे।लेकिन पुलिस कर्मी  बीच बाले बेटे को ही पेंशन एवं जमीन दे रहा था। इससे परेशान होकर बड़े एवं छोटे बेटे ने उठाया यह हैवानियत वाला कदम ।

जी हां।मामला है ।औरैया जिले के बिधूना कोतवाली क्षेत्र के कुदरकोट रामपुर का जहां नेत्रपाल यादव हेड कॉन्स्टेबल के पद से रिटायर्ड हुए थे।नेत्रपाल के तीन बेटे थे।नेत्रपाल अपने बीच बाले बेटे सर्वेश के साथ रह कर अपनी बाकी जमीन एवं पेंशन के पैसे सर्वेश को दिया करते थे।इससे नेत्रपाल सिंह के बड़े बेटे विनोद एवं छोटे बेटे राजेश को यह सब नागवार गुजरता था।दोनों पिता नेत्र पाल से काफी दुखी थे ।क्योंकि यह केवल बीच बाले को ही सब दिया करते थे। बाकी की कुछ बची जमीन भी पिता नेत्रपाल सर्वेश के नाम करने जा रहे थे।इस से परेशान होकर विनोद एवं राजेश ने पिता नेत्रपाल को ठिकाने लगाने की ठान ली ।नेत्रपाल  रात्रि में सो रहे थे ।तभी दोनों बेटे बड़े विनोद एवं छोटे राजेश ने सो रहे पिता नेत्रपाल को पास पड़े जानवरों के गले मे डाला जाने बाला डंडा दोनों भाइयों ने गले पर रख कर हत्या कर दी ।हत्या करने के बाद छिपाने के लिए अपने घरों पर चले गए सुबह जब सर्वेश ने पिता को मृत अवस्था मे देख तो इस घटना की जानकारी पुलिस को दी ।पुलिस ने शव को कब्जे ने लेकर पोरस्मार्टम के लिए भेज दिया ।बीच बाले बेटे सर्वेस ने पुलिस को अहम रहस्य बताये जिससे पुलिस ने इन दोनों भाइयों से जानकारी करनी चाही तो नही मिले सक पुलिस का और बढ़ गया ।घटना के बाद दोनों भाई भागने की फिराक में चिरकुआ के  पास खड़े थे।तभी मुखबिर की सूचना पर पुलिस ने दोनों को हिरासत में लेकर पूछताछ की पूछताछ में दोनों भाईयों विनोद एवं राजेश ने हत्या करना स्वीकार कर लिया ।पुलिस ने निशान देहि पर हत्या में प्रयुक्त डंडा भी बरामद कर लिया।और आरोपियों को जेल भेज दिया।

Comments