4 दिन पहले मरे इस व्यक्ति ने; मां, भाई, और साथी-सहेली को दिया "कोरोना वायरस" (कोरोना रिपोर्ट)

*हसनैन के दोस्‍त के बाद मां और दोनों भाई भी कोरोना पॉजिटिव पाए गए*

गोरखपुर /बस्ती - कोरोना की चपेट में आकर मरे गए हसनैन की मां रोशन (45) जहां और दोनों भाई साबिर अली (30) व हसन अली (21) भी कोरोना पॉजिटिव मिले हैं। डीएम बस्ती आशुतोष निरंजन ने तीनों के पॉजिटिव पाए जाने की पुष्टि करते हुए बताया कि तीनों को मेडिकल कॉलेज बस्ती में आइसलोट किया गया है। मेडिकल कॉलेज गोरखपुर से शुक्रवार की सुबह ही इस बात का संकेत मिल गया था लेकिन पुख्ता जांच के लिए तीनों की रिपोर्ट केजीएमयू लखनऊ भी भेजा गया था। इसी के साथ बस्ती में कोरोना पीड़ितों की कुल संख्या पांच हो गई है जिसमें एक की मौत हो चुकी है। गांधीनगर के तुरकहिया मोहल्ला निवासी हसनैन अली (26) की मेडिकल कॉलेज गोरखपुर में 30 मार्च को इलाज के दौरान मौत हो गई थी। मौत बाद हुई जांच में वह कोरोना पॉजिटिव पाया गया। 31 मार्च को मृतक हसनैन के माता-पिता, दो भाई, बहन, बहनोई समेत नौ लोगों को ओपेक चिकित्सालय कैली में क्वारंटीन किया गया था। सभी का थ्रोट सैम्पल जांच के लिए एक अप्रैल को मेडिकल कॉलेज गोरखपुर भेजा गया था। 
शुक्रवार की सुबह ही मेडिकल कॉलेज गोरखपुर से जानकारी मिल गई थी कि प्रारंभिक जांच में मृत हसनैन की मां रोशन जहां, भाई साबिर अली और हसन अली की रिपोर्ट पॉजिटिव है। लेकिन फाइनल रिपोर्ट के लिए केजीएमयू लखनऊ का सहारा लिया गया। अंतत: शाम करीब छह बजे स्पष्ट हो गया कि तीनों मां और दोनों भाई भी कोरोना पॉजिटिव हैं। तीनों हसनैन के संपर्क में आने से संक्रमित हुए हैं। वहीं 28 मार्च को जिला अस्पताल बस्ती में हसनैन अली को एडमिट कराने से लेकर उसके इलाज की व्यवस्था और 29 मार्च को मेडिकल कॉलेज गोरखपुर रेफर कराने तक में सहयोग करने वाला बस्ती निवासी सेराज भी कोरोना पॉजिटिव है। उसे कोरोना एल वन हॉस्पिटल सीएचसी मुंडेरवा में भर्ती कराया गया है। वहां वह 24 घंटे चिकित्सक की देखरेख में है। ‘कोरोना से मृत हसनैन अली की मां रोशन जहां और दोनों भाई साबिर अली और हसन अली भी कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं। तीनों को मेडिकल कॉलेज बस्ती में आइसोलेट किया गया है। बेहतर इलाज की व्यवस्था की गई है। तुरकहिया गांधीनगर और गिदही खुर्द इलाके को पूरी तरह सील कर उचित कार्रवाई की जा रही है।’

Comments