CCTV मैं रिकॉर्ड हुई पुलिस की करतूत; महिला और उसके बच्चे को पीट-पीटकर किया लहूलुहान

आजाद नगर चौकी इंचार्ज सूरज सिंह ने महिला व उसके बेटे को जमकर पीटा तस्वीरें सीसीटीवी में हुई कैद

https://youtu.be/3X75FtrQteQ

 पुलिस की छवि बदलने की सरकार भले ही लाख कोशिशें कर ले, तमाम नए नियम अपना ले, लेकिन वर्दी का रौब जब पुलिस वालों के सिर चढ़कर बोलने लगता है तो सारे नियम कानून ताक पर रख दिये जाते हैं।एक ऐसा ही मामला सामने आया गोरखपुर रामगढ़ताल थाना क्षेत्र के आजाद नगर चौकी इंचार्ज की करतूत सीसीटीवी कैमरे में कैद हुई जहां वह एक महिला और उसके बेटे को पीटते हुए नजर आए।
 
जमीनी विवाद में मौके पर पहुँची पुलिस ने महिला को बाल पकड़कर सड़क पर फेंक दिया और उसके साथ उसके लड़के पर लाठियां भी बरसाईं। चौकी इंचार्ज आज़ाद नगर सूरज सिंह व उनके हमराहीयों द्वारा महिला व उसके बेटे को जबरन  पुलिस जीप में बैठाती हुई सीसीटीवी में नज़र आ रही है जीप में बैठने से मना करने पर उसके लड़के की पिटाई की जाती है और महिला को बाल पकड़कर सड़क पर पटक दिया जाता है

गोरखपुर पुलिस है। जिस पुलिस की बहादुरी के दम पर प्रदेश सरकार महिलाओं और बेटियों को निर्भय रहने की बात करती है यह उसी पुलिस की काली करतूत है जो किसी को भी वर्दी की हनक का शिकार बना सकती है। मामला रामगढ़थाना क्षेत्र के आजाद नगर क्षेत्र का है जहां पर पिछले कुछ महीनों से चल रहे एक जमीन के विवाद में पुलिस आज शांति का माहौल कायम करने गयी थी। लेकिन पुलिस वालों की इन हरकतों को देखकर लगता नहीं है कि यह विवाद सुलझाने गए थे।

हजारीलाल और हरकरन के परिवार के बीच चल रहे इस विवाद मे आजाद चौक पुलिस हरिहरन के घर पहुंची और घर पर पहुंचते ही परिवार के सदस्यों को बुरी तरह से मारपीट कर उन्हें जबरन चौकी ले जाने की कोशिश करने लगी। परिवार के लोगों ने जब इसका विरोध किया और इसका कारण पूछा तो पुलिस वालों ने परिवार के युवकों को तो बुरी तरह से पीटा ही बीच-बचाव करने आई इनकी मां तारा को भी नहीं बख्शा और उनके ऊपर भी अपना पुलिसिया रौब दिखाने लगे। बेटे को बचाने में लगी मां को पहले तो बालों से पकड़कर घसीटा गया और फिर जबरन पुलिस की जीप से बालों से पकड़कर सड़क पर फेंक दिया गया। इसके बाद भी इस "बहादुर" पुलिस का मन नहीं भरा तो उन पर लाठियां भी बरसाई। यह सब कुछ सरेआम हो रहा था और बीच सड़क पर पुलिस का तांडव चल रहा था।

पुलिस के इस रौद्र रूप की सारी तस्वीरें यहां पर लगे सीसीटीवी कैमरे में कैद हो गई। पीड़ित युवक को पहले चौकी पर लाया गया फिर उसका शांतिभंग में चालान कर दिया। पुलिसवालों की पिटाई में महिला के हाथों और शरीर पर काफी चोटें आई हैं। गौरतलब बात यह है कि इस पूरी कार्रवाई में कोई महिला पुलिसकर्मी भी नहीं थी पुलिस पुलिस कर्मियों ने महिला के साथ दुर्व्यवहार किया। पीड़ित महिला ने एसएसपी को भी इस घटना की जानकारी दे दी है।

Comments