ओवरलोडिंग मामले में SIT ने 3 जिलों के RTO अधिकारियों और कर्मचारियों को किया गिरफ्तार

गोरखपुर में ओवरलोडिंग के मामले में एसआईटी ने बड़ी कार्रवाई की है। एसआईटी ने तीन जिलों के आरटीओ विभाग के अधिकारियों और कर्मचारियों पर शिकंजा कसा गया है। एसआईटी ने गिरफ्तारी की कार्रवाई करते हुए दो आरटीओ समेत एक ड्राइवर और एक सिपाही की गिरफ्तारी की है। इनमें बस्ती के एआरटीओ प्रवर्तन शैलेन्द्र तिवारी और उनका ड्राइवर उत्तम चंद की गिरफ्तारी की गयी है। जबकि संतकबीरनगर के ARTO संदीप चौधरी भी  एसआईटी के हत्थे चढ़े है। वहीं देवरिया एआरटीओ का सिपाही अनिल शुक्ला की गिरफ्तार हुआ है। गोरखपुर के एसआईटी प्रभारी और सीओ कैंट सुमित शुक्ला ने पुलिस की कार्रवाई की पुष्टि करते हुए बताया है कि तफ्तीश के दौरान इन जिलों के एआरटीओ, ड्राइवर और सिपाही की भूमिका सामने आई है। जिस पर पुलिस ने कार्रवाई करते हुए इनकी गिरफ्तारी की है। इसके साथ ही एसआईटी प्रभारी का कहना है कि जांच में प्रदेश के कई जिलों में सालों से चल ओवरलोडिंग के खेल का भंडाफोड़ हुआ है। हालांकि ओवरलोडिंग के अवैध धंधे का सरगना समेत छह अवैध धंधेबाजों की एसटीएफ ने पहले गिरफ्तारी की है। जिसके बाद से एसएसपी ने सीओ कैंट की अगुवाई में एसआईटी की गठन किया था। जिसके बाद से लगातार एसआईटी की जांच में ओवरलोडिंग के गोरखधंधे का खुलासा हो रहा है। दरअसल आरटीओ विभाग की मिलीभगत से चलता था ओवरलोडिंग का खेल चल रहा था। वहीं प्रभारी एसआईटी ने कहा है कि प्रदेश के अन्य जिलों के आरटीओ विभाग भी एसआईटी के रडार पर है। उनके खिलाफ भी सबूत जुटाया जा रहा है।

Comments